Social Items

Technology लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
Technology लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
What Is Digital Signature in hindi || Digital Signature kya hota he डिजिटल सिग्नेचर

Digital Signature ke bare me
Digital Signature

आजकल सभी सरकारी सेवायें लोगों को "ई-गवर्नेंस" के माध्‍यम से प्राप्‍त हो रही हैं, जिसमें पेनकार्ड, वोटरकार्ड, आधार कार्ड के अलावा कई प्रकार के ऐसे प्रमाण पत्र होते है जिसके लिये आपको अपने जिले के सरकारी दफ्तरों तक जाना पडता था, जैसे आय-जाति-निवास अादि प्रमाण पञ आदि। पहले इन प्रमाण पत्रो पर अधिकारियों के हस्‍ताक्षर होते थे, लेकिन अब यह काम डिजिटल सिग्नेचर द्वारा किया जा रहा है। तो क्‍या है ये डिजिटल सिग्नेचर आईये जानते हैं ।
डिजिटल सिग्नेचर के बारे में जानने के पहले थोडा सरकारी नियम समझ लेते हैं, पहले के सर्टिफिकेट्स  मैनुअल तरीके से तैयार किये जाते थे, जिसमें आवेदनकर्ता, अावेदन भरता था और उसमें जरूरी अटैचमेंट्स लगता था अौर उसे कार्यालय में जमा करता था, फिर उसके अावेदन को जॉच के लिये अधिकारी या कर्मचारी के पास भ्‍ोजा जाता था, जॉच के स्‍तर इस बात पर निर्भर करते हैं कि आपने किस प्रकार के प्रमाण पत्र के लिये आवेदन किया है। जॉच होने के उपरान्‍त वह सर्टिफिकेट्स कार्यालय में वापस आता है और सक्षम अधिकारी द्वारा उसे हस्‍ताक्षर कर आवेदनकर्ता काे प्राप्‍त कराया जाता है। 
लेकिन अब ऐसा नहीं है अब समय है "ई-गवर्नेंस" का इस माध्‍यम से यह सारी प्रक्रिया बहुत ही सरल हो गयी है, इसके माध्‍यम से सभी प्रकार के सर्टिफिकेट्स एक इंटरनेट पोर्टल के माध्‍यम से तैयार किये जाते हैं, अगर देखा जाये तो केवल आवेदन अौर तैयार प्रमाण पञ को छोडकर सारी प्रक्रिया पूरी तरह से पेपरलैस है। यह पूरी तरह से सर्टिफिकेट्स का डिजिटल रूप होता है। इसमें सारी जॉच प्रक्रिया इंटरनेट पोर्टल पर ही होती है। इसमें सभी स्‍तर की जॉच प्रक्रिया में अधिकारी अौर कर्मचारियों द्वारा डिजिटल हस्‍ताक्षर का प्रयोग किया जाता है। इन सभी प्रमाण पञों का सत्‍यापन भी पोर्टल के माध्‍यम से बडी आसानी से किया जा सकता है। 
डिजिटल सिग्नेचर क्या चीज है।
Digital Signature kya he
Digital Signature Kya he

डिजिटल हस्‍ताक्षर या सिग्नेचर एक प्रकार का कंप्‍यूटर कोड होता है, इसका प्रयोग केवल अधिक्रत व्‍यक्ति ही कर सकता है, जिसे उपयोग करने के लिये या तो यूजर आईडी और पासवर्ड की अावश्‍यकता होती है, इसके अलावा कहीं-कहीं डोंगल का भी प्रयोग किया जाता है जो एक प्रकार की पेनड्राइव जैसी डिवाइस होती है, यानि डिजिटल सिग्‍नेचर केवल वही व्‍यक्ति कर पायेगा, जिसकेे पास यह दोनों चीजें हों। जैसे कागज के सर्टिफिकेट्स पर मैनुअली साइन किये जाते थे, वैसे ही इलैक्‍ट्रोनिक सर्टिफिकेट्स पर डिजिटल सिग्नेचर किये जाते हैं। यह कानूनी तौर पर मान्‍य होते हैं। 

What Is Digital Signature in hindi || Digital Signature kya hota he डिजिटल सिग्नेचर

लैंडलाइन नंबर से व्हाट्सअप यूज़ करने की प्रोसेस
भारत मे व्हाट्सअप यूज़ करने बालो की संख्या 20 करोड़ से भी ज्यादा है,व्हाटसप उसे करने के लिए सिर्फ मेसेज ही नही वीडियो कॉल ,वौइस् कॉल इन सब मे भी उपयोग करते है दोस्तो अभी हम कोई भी नंबर शेयर किए बग़ैर भी यूज़ करना चाहते है इसलिए दोस्तो में आपको इस नई टेक के बारे में बताता हूं जिससे अगर आपका कोई लैंडलाइन नंबर है तो उस नंबर से भी आप व्हाट्सअप में यूज़ कर सकते है।

TextNow एप्लीकेशन का यूज़ करो

सबसे पहले आप प्लेस्टोर से TextNow एप्लीकेशन डाउनलोड करके उसमें साइन इन करो।
साइन इन करने के लिए अपना ईमेल आईडी या फेसबुक से कर सकते हो।
उसके बाद यूजर नाम और एरिया कोड पूछेगा ।
यहां आप भारत के अलावा और कोई भी जगह का एरिया कोड यूज़ कर सकते हो जैसे कि 325809
या अमरीकन कोड भी उसे कर सकते हो ।
इतना करने से ही तुम्हे एप्पलीकेशन की तरफ से एक नंबर मिलेगा ।
अब अपने स्मार्टफोन में व्हाट्सएप डाऊनलोड करो।
व्हाटसप ओपन करोगे तो आपको एक नंबर पूछेगा जिसमे आपको जो textnow एप्लीकेशन से जो नंबर मिला था वह आप इसमें सबमिट करोगे ।
सबमिट करने के बाद Textnow आपको OTP भेजेगा लेकिन OTP सबमिट करने के समय प्रोसेस फेल हो जाएगा ।
लेकिन उसके बाद click on call me  पर क्लिक करो। क्लिक करने से एप्लीकेशन की तरफ से आपको कॉल आएगा जिसमे आपको OTP मिलेगा।
कॉल पर मिल OTP को आप व्हाटसप पर इंटर करे और भी सबमिट कर दे।
सबमिट करने पर ही तुरंत आप अपना नंबर उसे किये विना व्हाटसप यूज़ कर सकते है।
लैंडलाइन नंबर द्वारा व्हाटसप यूज़ करो
आप व्हाटसप डाउनलोड करके अपना लैंडलाइन नंबर इंटर करो फिर OTP वेरिफिकेशन फैल जाएगा।फिर call me ऑप्शन पर क्लिक करो जिससे आपको उस नंबर OTP नंबर का कॉल आएगा फिर सबमिट करो ।
इतना करने के बाद आप लैंडलाइन नंबर व्हाटसप पर यूज़ कर सकते हो।

सिमकार्ड के नंबर बिना भी यूज़ कर सकते हो व्हाट्सअप ट्राय करिये दो प्रोसेस

स्मार्टफोन में डेटा सेफ्टी के लिए आप बहुत प्रकार के लॉक ओर फीचर को यूज़ करते हो जिससे आप बहुत बार इन सब से मयूश होना पड़ता है दोस्तो लेकिन आज में आपको इस सेटिंग के बारे में बताऊंगा जिससे आप का अगर फ़ोन चोरी हो गया हो या फिर खो गया हो तो इससे आपको बहुत मदद मिल सकती है क्योंकि एक 19 साल की लड़की ने इस सेटिंग से अपना चोरी हुआ मोबाइल फ़ोन खोज निकाला था और उस चोर को पकड़वाया भी था तो चलो देखते है इस सेटिंग को
गूगल सेटिंग करेगी आपकी मदद
एंड्राइड फ़ोन यूज़ करने के लिए आपको Gmail एकाउंट बनाना पड़ता ही है, इस एकाउंट की मदद से फ़ोन के एप्पलीकेशन इंस्टाल करना और दूसरे काम भी कर सकते है, दोस्तों जब से आप एकाउंट में लॉगिन करते हो तब से ही आप की सभी एक्टिविटी भी सेव होती रहती है जैसे कि आप किस सर्च करते हो क्या डाउनलोड करते हो कोन से सांग वीडियो देखना सर्च करना लोकेशन सर्च आपके मोबाइल की लोकेशन क्या है ये सब ऐक्टिविटी आपकी पता चलती है लेकिन इसे आप डिलेट भी कर सकते हो,जो आप My Activity पर जाकर GMAIL LOGIN करना होता है.
लोकेशन हमेशा ON रखो
GOOGLE में जाकर FIND YOUR PHONE सर्च करो. ओर जो पहली लिंक आएगी उसे ओपन करो तो उसमें अपना फोन का मॉडल दिखायी देगा,यहाँ पर आप अपने फ़ोन की लोकेशन जान सकते हो, जिसके लिए तुम्हारे फ़ोन का GPS ऑन करना पड़ेगा जिससे आप फ़ोन को लॉक भी कर सकते जो,इसके साथ फ़ोन FIND करने के लिए ' This Phone is lost. Please help give it back' मेसेज लिखकर आप कोई दूसरा नंबर भी दे सकते हो.
तुम यहाँ से अपना सभी डेटा भी डिलेट कर सकते हो.
मुम्बई की टीनएजर ने खोजा था अपना फोन
मुंबई की टीनएजर ने चोरी हुआ फ़ोन ऊपर की की बताई हुई सेटिंग के हिसाब से अपना फ़ोन ट्रैक किया हुआ था जिससे उस चोर सेल्वराज शेटी नामक इंसान के पास पहुच गयी थी और अचम्भाव की बात यह है कि बो उसी दिन ही वह शहर छोड़ कर भाग रहा था लेकिन उस लड़की ने उस चोर को रेलवे प्रोटेक्शन फ़ोर्स की मदद से पकड़वा दिया था.

How to Find Your Lost Mobile || हमेशा ON रखो एक सेटिंग तो चोरी हुआ फ़ोन आपको ढूडने में मिलेगी मदद

अपने प्राइवेट डॉक्यूमेंट को रखना चाहतें हैं सेफ, तो अपनाएं ये आसान ट्रिक
हम आपको कुछ ऐसी ट्रिक बताने जा रहे हैं जिसके जरिए आप अपने परसनल डॉक्यूमेंट को बड़ी आसानी से प्रोटेक्ट कर सकते हैं।
पहले लोग अपनी प्राइवेट बातें पर्सनल डायरी में लिखा करते थे, लेकिन टेक्नोलॉजी के इस दौर में इसकी जगह कम्प्यूटर और लैपटॉप ने ले ली है। ऐसे में कई बार हम MS Word पर कुछ ऐसा लिखते हैं जिसे हम प्राइवेट रखना चाहते हैं। लेकिन, हमारा पीसी किसी दूसरे के हाथ लगते ही वह डॉक्यूमेंट पर्सनल नहीं रह जाती। ऐसे में हम अपने राज को राज बनाए रखने के लिए कई तरीके ढूंढते हैं। इस लिए आज हम आपको कुछ ऐसी ट्रिक बताने जा रहे हैं जिसके जरिए आप अपने परसनल डॉक्यूमेंट को बड़ी आसानी से प्रोटेक्ट कर सकते हैं। आइए जानते हैं इस ट्रिक के बाने में।
ऐसे करें MS Word कॉपी को प्रोटेक्ट
1. इसके लिए सबसे पहले आपको MS Word में उस फाइल को खोलना होगा जिसे आप प्रोटेक्स करना चाहतें हैं।
2. इसके बाद आप ‘File’ पर क्लिक कर Info में जाएं और ‘Protect Document’ को सिलेक्ट करें।
3. इसके बाद आप ‘Encrypt with Password’ पर क्लिक कर दें।
4. अब आपको एक पासवर्ड डालना होगा और ‘OK’ पर क्लिक कर देना होगा।
5. इसके बाद आप डॉक्यूमेंट को दोबारा सेव कर उसे बंद कर दें।
ऐसा करने के बाद आप जब भी इस डॉक्योमेंट को दोबार खोलेंगे तो यह एक्सेस के लिए आपसे पासवर्ड मांगेगा। एक बार सही पासवर्ड डालने के बाद ही आप इसे खोल सकेंगे। ध्यान रहे कि डॉक्यूमेंट को प्रोटेक्ट करने के लिए आप जो भी पासवर्ड डाल रहे हैं वह सरल और याद रखने वाला हो क्योंकि अगर आप किसी डॉक्यूमेंट को सेव कर उसका पासवर्ड भूल गए तो उसे खोलना नामुमकिन है।
अगर आप इस लगाए गए पासवर्ड को हटाना चाहते हैं तो दुबारा ‘File’ पर क्लिक कर Info में जाएं और ‘Protect Document’ को सिलेक्ट करें। इसके बाद ‘Encrypt with Password’ को सिलेक्ट करें। इसके बाद आपके सामने एक विंडो ओपन हो जाएगी जिसमें आपने जो पासवर्ड लगाया है वह दिखाई देगा। उस पासवर्ड को डिलीट कर दें और दोबारा ‘OK’ पर क्लिक कर डॉक्यूमेंट को सेव करके क्लोज कर दें।

अपने प्राइवेट डॉक्यूमेंट को रखना चाहतें हैं सेफ, तो अपनाएं ये आसान ट्रिक