Social Items

दोस्तो Income Tax Return E Verify Process फ़ाइल को ऑनलाइन कैसे वेरीफाई करें । दोस्तो इनकम टैक्स रिटर्न्स (ITR) जब फ़ाइल करते है । Income Tax Return E Verify Process ( इनकम टैक्स रिटर्न्स फ़ाइल के बाद ई वेरीफाई कैसे करें ? ) को वेरीफाई करना पड़ता है । उसके आपका ITR फ़ाइल करना अधूरा माना जाता है । उसके लिए आपको आपको ITR को ऑनलाइन वेरिफिकेशन करना पड़ता है ।

Income Tax Return E Verify Process - इनकम टैक्स रिटर्न्स फ़ाइल के बाद ई वेरीफाई कैसे करें ? -How to E verify ITR through Net Banking -Verify Return
ITR VERIFICATION


How to E verify ITR through Net Banking


नेटबैंकिंग द्वारा (Net Banking)


दोस्तो आप जब ITR को भरने के बाद ऑनलाइन Return E Verify करते है तो आप उसको आपके बैंक के नेटबैंकिंग के जरिये भी वेरीफाई कर सकते है । उसके लिए आपको बैंकिंग वेबसाइट पर लॉगिन करना होता है । लॉगिन करने के बाद आपको टैक्स टैब के ऑप्शन में E - Verify का ऑप्शन मिलेगा । उसके बाद इनकम टैक्स वेबसाइट में लॉगिन करेंगे तो आपको उसमे Account टैब का ऑप्शन होगा उस पर आप क्लिक करेंगे तो आपको इलेक्ट्रॉनिक वेरिफिकेशन कोड (EVC ) Generate कर सकते है । उस पर आप क्लिक करेंगे तो आपके ईमेल और मोबाइल नंबर पर 10 डिजिट का एक कोड आएगा । यह कोड 72 घंटे तक एक्टिव रहेगा इस कोड को आपको आपके इनकम टैक्स लॉगिन में जाकर एकाउंट सेक्शन में EVC यानी यह कोड इंटर करें आपका ITR फ़ाइल रिटर्न्स उसके बाद वेरीफाई हो  जाएगा ।


How to E Verify ITR in New Portal


आधार OTP के द्वारा (Aadhar OTP)


Return E Verify फ़ाइल वेरीफाई करने के पैन के साथ आधार कार्ड लिंक होना जरूरी है । अब दोस्तो आपको OTP का उपयोग करने के लिए Incometax.gov.in वेबसाइट पर जाये । उसके बाद E-Verify लिंक पर क्लिक करें। उसमे आपको Verify Return Using Aadhar OTP ऑप्शन को चॉइस करना है । इसको करने के बाद आपको आधार में जो रजिस्टर मोबाइल नंबर है उस पर आपको मेसेज आएगा आप उस OTP के द्वारा आप अपना ITR फ़ाइल Return E Verify कर सकते है । आप इनकम टैक्स की वेवसाइट पर यह OTP को एंटर करेंगे तो आपका ITR फ़ाइल वेरीफाई  हो जाता है ।


How to e verify ITR in New Portal


डिमैट एकाउंट द्वारा ( Demat Account)


दोस्तो आप जिस एकाउंट शेयर ट्रेडिंग करते है उस डिमैट एकाउंट के द्वारा Return E Verify कर सकते है ।


ITR वेरीफाई करने से पहले आपको आपके डिमैट एकाउंट को वेलिडेट करना पड़ता है । आपके डिमैट एकाउंट जो डेपोज़िटरी (NSDL अथवा CDSL)  के पास रहता है । वहाँ लॉगिन करके आपको अपना मोबाइल नंबर और ईमेल आईडी एंटर करनी पड़ती है । उसके बाद वेलिडेसन करना है । यह प्रोसेस सामान्य रूप से कोई भी गलती होगी तो आपके ईमेल आईडी पर नोटिफिकेशन आ जाता है ।


Return E Verify Bank Account ( बैंक एकाउंट से वेरीफाई )


बैंक एकाउंट द्वारा Return E Verify करने के लिए आपको बैंक एकाउंट को पैन कार्ड से लिंक करना पड़ेगा । वेलिडेसन के बाद E-Filling पोर्टल पर जाकर Return E Verify पर क्लिक करना है .

 लॉगिन करने के बाद बैंक एकाउंट से रिटर्न्स वेरीफाई का ऑप्शन करें और फिर आपका बैंक एकाउंट डिटेल्स सबमिट करके OTP जनरेट करें।

आपका रेजिस्टर मोबाइल नंबर पर एक EVC कोड भेजा जाएगा । वह EVC  को सबमिट करने के बाद आपका रिटर्न्स वेरीफाई हो जाएगा ।


Return E Verify बैंक ATM के द्वारा 


इसके लिए आपको आपके बैंक ATM मशीन में जाना पड़ेगा । जब आप ATM में ATM कार्ड डालने पर आपको PIN फ़ॉर E-Filling का ऑप्शन होगा । उस पर आपको क्लिक करने के बाद एक कोड आपके रजिस्टर मोबाइल नंबर पर आएगा यह कोड 72 घंटे तक एक्टिव रहता है । वह कोड आपको ऑनलाइन इनकम टैक्स की वेबसाइट में जाकर My एकाउंट के ऑप्शन पर क्लिक करेंगे तो आपको E-Verify का ऑप्शन पर क्लिक करके उस कोड को लिखकर आपको सबमिट कर देना है । जिसके बाद आपका Return E Verify वेरीफाई हो जाएगा । 


ITR वेरिफिकेशन करना जरुरी है ?


दोस्तो ITR को वेरिफिकेशन करना अनिवार्य है । जब तक आप ITR को E-वेरीफाई नही करेंगे तब तक आपका ITR रिटर्न्स मान्य नही होगा । जिसके कारण आपका रिफंड रोक दिया जाता है ।


दोस्तो आज में Return को कितनी तरीके से Income tax return e verify Process की जानकारी प्राप्त की है । आप इन सभी तरीको से आपका return फ़ाइल को ऑनलाइन E Verify कर सकते है ।

इनकम टैक्स रिटर्न्स फ़ाइल के बाद ई वेरीफाई कैसे करें ? Income tax return e verify Process - HindiTechKnow

दोस्तो Income Tax Return E Verify Process फ़ाइल को ऑनलाइन कैसे वेरीफाई करें । दोस्तो इनकम टैक्स रिटर्न्स (ITR) जब फ़ाइल करते है । Income Tax Return E Verify Process ( इनकम टैक्स रिटर्न्स फ़ाइल के बाद ई वेरीफाई कैसे करें ? ) को वेरीफाई करना पड़ता है । उसके आपका ITR फ़ाइल करना अधूरा माना जाता है । उसके लिए आपको आपको ITR को ऑनलाइन वेरिफिकेशन करना पड़ता है ।

Income Tax Return E Verify Process - इनकम टैक्स रिटर्न्स फ़ाइल के बाद ई वेरीफाई कैसे करें ? -How to E verify ITR through Net Banking -Verify Return
ITR VERIFICATION


How to E verify ITR through Net Banking


नेटबैंकिंग द्वारा (Net Banking)


दोस्तो आप जब ITR को भरने के बाद ऑनलाइन Return E Verify करते है तो आप उसको आपके बैंक के नेटबैंकिंग के जरिये भी वेरीफाई कर सकते है । उसके लिए आपको बैंकिंग वेबसाइट पर लॉगिन करना होता है । लॉगिन करने के बाद आपको टैक्स टैब के ऑप्शन में E - Verify का ऑप्शन मिलेगा । उसके बाद इनकम टैक्स वेबसाइट में लॉगिन करेंगे तो आपको उसमे Account टैब का ऑप्शन होगा उस पर आप क्लिक करेंगे तो आपको इलेक्ट्रॉनिक वेरिफिकेशन कोड (EVC ) Generate कर सकते है । उस पर आप क्लिक करेंगे तो आपके ईमेल और मोबाइल नंबर पर 10 डिजिट का एक कोड आएगा । यह कोड 72 घंटे तक एक्टिव रहेगा इस कोड को आपको आपके इनकम टैक्स लॉगिन में जाकर एकाउंट सेक्शन में EVC यानी यह कोड इंटर करें आपका ITR फ़ाइल रिटर्न्स उसके बाद वेरीफाई हो  जाएगा ।


How to E Verify ITR in New Portal


आधार OTP के द्वारा (Aadhar OTP)


Return E Verify फ़ाइल वेरीफाई करने के पैन के साथ आधार कार्ड लिंक होना जरूरी है । अब दोस्तो आपको OTP का उपयोग करने के लिए Incometax.gov.in वेबसाइट पर जाये । उसके बाद E-Verify लिंक पर क्लिक करें। उसमे आपको Verify Return Using Aadhar OTP ऑप्शन को चॉइस करना है । इसको करने के बाद आपको आधार में जो रजिस्टर मोबाइल नंबर है उस पर आपको मेसेज आएगा आप उस OTP के द्वारा आप अपना ITR फ़ाइल Return E Verify कर सकते है । आप इनकम टैक्स की वेवसाइट पर यह OTP को एंटर करेंगे तो आपका ITR फ़ाइल वेरीफाई  हो जाता है ।


How to e verify ITR in New Portal


डिमैट एकाउंट द्वारा ( Demat Account)


दोस्तो आप जिस एकाउंट शेयर ट्रेडिंग करते है उस डिमैट एकाउंट के द्वारा Return E Verify कर सकते है ।


ITR वेरीफाई करने से पहले आपको आपके डिमैट एकाउंट को वेलिडेट करना पड़ता है । आपके डिमैट एकाउंट जो डेपोज़िटरी (NSDL अथवा CDSL)  के पास रहता है । वहाँ लॉगिन करके आपको अपना मोबाइल नंबर और ईमेल आईडी एंटर करनी पड़ती है । उसके बाद वेलिडेसन करना है । यह प्रोसेस सामान्य रूप से कोई भी गलती होगी तो आपके ईमेल आईडी पर नोटिफिकेशन आ जाता है ।


Return E Verify Bank Account ( बैंक एकाउंट से वेरीफाई )


बैंक एकाउंट द्वारा Return E Verify करने के लिए आपको बैंक एकाउंट को पैन कार्ड से लिंक करना पड़ेगा । वेलिडेसन के बाद E-Filling पोर्टल पर जाकर Return E Verify पर क्लिक करना है .

 लॉगिन करने के बाद बैंक एकाउंट से रिटर्न्स वेरीफाई का ऑप्शन करें और फिर आपका बैंक एकाउंट डिटेल्स सबमिट करके OTP जनरेट करें।

आपका रेजिस्टर मोबाइल नंबर पर एक EVC कोड भेजा जाएगा । वह EVC  को सबमिट करने के बाद आपका रिटर्न्स वेरीफाई हो जाएगा ।


Return E Verify बैंक ATM के द्वारा 


इसके लिए आपको आपके बैंक ATM मशीन में जाना पड़ेगा । जब आप ATM में ATM कार्ड डालने पर आपको PIN फ़ॉर E-Filling का ऑप्शन होगा । उस पर आपको क्लिक करने के बाद एक कोड आपके रजिस्टर मोबाइल नंबर पर आएगा यह कोड 72 घंटे तक एक्टिव रहता है । वह कोड आपको ऑनलाइन इनकम टैक्स की वेबसाइट में जाकर My एकाउंट के ऑप्शन पर क्लिक करेंगे तो आपको E-Verify का ऑप्शन पर क्लिक करके उस कोड को लिखकर आपको सबमिट कर देना है । जिसके बाद आपका Return E Verify वेरीफाई हो जाएगा । 


ITR वेरिफिकेशन करना जरुरी है ?


दोस्तो ITR को वेरिफिकेशन करना अनिवार्य है । जब तक आप ITR को E-वेरीफाई नही करेंगे तब तक आपका ITR रिटर्न्स मान्य नही होगा । जिसके कारण आपका रिफंड रोक दिया जाता है ।


दोस्तो आज में Return को कितनी तरीके से Income tax return e verify Process की जानकारी प्राप्त की है । आप इन सभी तरीको से आपका return फ़ाइल को ऑनलाइन E Verify कर सकते है ।

कोई टिप्पणी नहीं